Vidyalaya mein Pustakalaya ka Mahatva Batate Hue Chote Bhai ko Patra – विद्यालय में पुस्तकालय का महत्व बताते हुए भाई को पत्र

दिनांक: __________

__________ (भाई का पता)

प्रिय भाई __________ (भाई का नाम),
शुभ आशीष।

मैं यहां पर सकुशल हूं और तुम्हारी कुशलता के लिए भगवान से प्रार्थना करता हूं।

आज मैं विद्यालय में पुस्तकालय का क्या महत्व है इस बारे में तुम्हें कुछ बताना चाहता हूं। एक कहावत तो तुम ने सुनी होगी कि पुस्तकें इंसान की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं। जिसको पुस्तकें पढ़ने का शौक है वह इंसान सामान्य ज्ञान और अन्य जानकारी के क्षेत्र में कभी भी पीछे नहीं रहता। पुस्तकें हमें हर क्षेत्र का ज्ञान देती हैं चाहे वह विद्यालय के विषय में हो या साहित्य संबंधित हो यह सारी जानकारी प्राप्त करने के लिए विद्यालय में पुस्तकालय का होना बहुत आवश्यक है। पुस्तकालय से जरूरतमंद छात्र अपने विषय की पुस्तकें ले सकते हैं उन्हें समय पर वापस कर के दूसरी पुस्तकें ले सकते हैं या उन्हीं पुस्तकों को पुनः जारी करवा सकते हैं ।

पुस्तकालय का हमारे जीवन में बहुत बड़ा योगदान है हमें अपने विद्यालय के पुस्तकालय का कार्ड ले लेना चाहिए और आवश्यकतानुसार वहां से पुस्तके जारी करवानी चाहिए तथा समय पर वापस जमा करनी चाहिए जिससे अन्य जरूरतमंद छात्र उन्हीं पुस्तकों को प्राप्त कर सकें ।

आशा है तुम्हें मेरी यह बात अच्छी तरह समझ में आ गई होगी।

तुम्हारा,

_________ (अपना नाम)

Incoming Search Terms:

  • Letter to brother stating the importance of library in school in Hindi
  • Vidyalaya mein Pustakalaya ka Mahatva Batate Hue Chote Bhai ko Patra
  • Chote Bhai ko Vidyalaya mein Pustakalaya ka Mahatva Batate Hue patra likhiye

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code