Chhatravas mein Anupasthit Rehne ke Kaaran Jurmana maaf Karwane ke Liye Pradhanacharya ko Patra – छात्रावास में अनुपस्थित होने के कारण जुर्माने को माफ करवाने के लिए प्रधानाचार्य को पत्र

सेवा में,

श्रीमान प्रधानाचार्य जी,
________ (विद्यालय का नाम) विद्यालय,
________ शहर का नाम।

दिनांक: __________

श्रीमान जी,

सविनय निवेदन है कि पिछले महीने मेरे दादा जी के अस्वस्थ होने के कारण मुझे उनके पास रहना पड़ा था। जिसकी वजह से मैं कुछ दिन छात्रावास में अनुपस्थित रहा था।

इस कारण मुझ पर ______ (रुपए) रुपए जुर्माना लगाया गया है। आपसे निवेदन है कि आप कृपया इस जुर्माने की राशि को माफ़ कर दें। आपकी अति कृपा होगी।

धन्यवाद।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
_______ ( अपना नाम ),
_______ ( कक्षा )
_______ ( रोल नंबर )

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code