Apne Naye Mitra ke Baare Mein Babate Hue Pita ko Patra – अपने नए मित्र के बारे में पिता को पत्र

दिनांक: __________

__________ ,
__________ (पिता जी का पता)

आदरणीय पिता जी,
सादर चरणस्पर्श।

मैं यहां पर सकुशल हूं और आप सब की कुशलता के लिए भगवान से प्रार्थना करता हूं। मेरी पढ़ाई ठीक चल रही है और पिछली परीक्षा में मुझे काफ़ी अच्छे अंक प्राप्त हुए हैं।

मेरा यहां पर एक बहुत अच्छा मित्र बना है। वह भी मेरी कक्षा में पढ़ता है। हम दोनों हॉस्टल में एक ही कमरे में रहते हैं। वह भी पढ़ाई को लेकर बहुत उत्साहित है। उसमें कोई भी बुरी आदत नहीं है। हम दोनों रोज़ सुबह जल्दी उठ जाते हैं। थोड़ी देर सैर करने जाते हैं। फिर वापिस आ कर स्नान इत्यादि करके हम पढ़ने बैठते हैं। साथ ही स्कूल जाते हैं। आप मेरी बिल्कुल भी चिन्ता न करें।

आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।
माता जी को चरणस्पर्श।

आपका पुत्र,
__________ (अपना नाम)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code